मराठी फिल्म ‘आपला मानुस’ में लीड रोल निभा रहे नाना पाटेकर ने हाल ही में फिल्म के बारे में बातचीत की. यह फिल्म रिलीज हो चुकी है. इसे फैंस का मिलाजुला रिस्पॉन्स मिल रहा है.

नाना पाटेकर ने अपने करियर के बारे में बात करते हुए कहा कि मैं 68 साल का हो चुका हूं. साल में एक फिल्म करना ही मेरी प्राथमिकता है. मुझे कई ऑफर मिलते हैं लेकिन मैं सभी को साफ मना कर देता हूं. काम का चुनाव करने के पीछे सबसे बड़ी एक वजह है कि मैं दिमागदार लोगों के साथ काम करना चाहता हूं.

कंटेट की वजह से चलती हैं फिल्में

वर्तमान फिल्म के दौर पर बात करते हुए उन्होंने कहा कि अब कंटेंट की सबकुछ है. कोई भी फिल्म का स्टार नहीं बन सकता अगर फिल्म का कंटेंट अच्छा नहीं है. कोई फिल्म तब तक अच्छा बिजनेस नहीं करती जबतक उसका कंटेंट अच्छा नहीं होता है. मेरे लिए जरूरी है कि आप फिल्म में क्या दिखा रहे हैं. स्टार्स तो खाने की थाली की तरह हैं. उसमें किस तरह का खाना परोस रहे हैं यह मैटर करता है.

फिल्म में ऐतिहासिक तथ्यों के साथ छेड़छाड़ गलत- नाना पाटेकर

मराठी फिल्म ‘आपला मानुस’ के बारे में बात करते हुए नाना पाटेकर ने कहा कि मुझे एक अद्भुत और जटिल किरदार निभाने का मौका मिला. नाना ने बयान में कहा, नटसम्राट के बाद मैं कुछ विशेष मिलने का इंतजार कर रहा था. एक ऐसा किरदार जो मुझे कभी भी न छोड़े और मारुति नगरगोजे (चरित्र) के साथ मुझे यह मौका मिल गया.

उन्होंने कहा, यह बहुत जटिल किरदार है जो मैंने मराठी सिनेमा में कभी नहीं निभाया. इस फिल्म को वायकॉम 18 मोशन पिक्चर्स और अजय देवगन फिल्मस निर्माण कंपनी फिल्म ने बनाया है. इसके निर्देशक सतीश रजवाड़े हैं. इसमें सुमित राघवन और इरावती हर्षे भी शामिल हैं जो एक युवा जोड़े की भूमिका में हैं. फिल्म में नाना पाटेर वरिष्ठ इंस्पेक्टर मारुति नागरगोजे की भूमिका में हैं.